Subconscious Mind Power No Further a Mystery




"हरजत, आप मुझे सिखाते हैं लोग तो ऐसी-ऐसी युक्तियां मुझसे सीख कर जाते हैं।"

उसने पूछा, "तुम अभी तो मुझप वार करना चाहते थे और अब तुरन्त ही तलवार फेंककर मुझे छोड़ दिया। इसका क्या कारण है!

You obtain assured on the classroom stage and experience you personal the crowd; you are feeling you have conquered your worry of public Talking; you start to understand you merely Enjoy this sensation that men and women are Hearing you and you simply’re experiencing talking to them loudly and with self confidence;

चरवाहे ने जवाब दिया, "ऐ मूसा! अब मैं इस तरह की बातें मुंह से नहीं निकालूंगा। तूने जो मेरे बुद्धि-रुपी घोड़े को कोड़ा लगाया तो वह एक छलांग में सातवे आसमान पर जा पहुंचा। अब मेरी दशा बयान से बाहर है, बल्कि मेरे ये शब्द भी मरे हार्दिक दशा को प्रकट नहीं करते।"

इसलिए ए मनुष्य, तू अपने जीवन में इस बात को अच्छी तरह समझ जा कि परलोक में तेरा क्या परिणाम होगा और विद्याओं के जानने से अधिक तेरे लिए यह अच्छा है कि तू अपने स्वरुप को जाने]१

साधु ने कहा, "अरे भले आदमी! तू बिना सूचना दिये मेरी झोंपड़ी में कैसे आ गया।"

प्रसिद्ध विद्वान् निकलसन ने लिखा है, " 'मसनवी' में धार्मिक गीतों के सभी गुण वर्तमान हैं। पर्वत के गाने, गुलाब के रंग तथा सुगंध इत्यादि से पद ओत-प्रोत हैं। ईश्वर की व्यापकता सभी में दिखायी गयी है। मौलाना रूमी की कविता पढ़ने से ऐसा मालूम होता है, मानो हम किसी स्वर्गीय वेगवती सरिता का गान सुन रहे हैं। शब्द-योजना हृदय को हिलाने वाली और आनंददायिनी है।"

उसने पानी की मशक उठायी और चल दिया। सफर में दिन को रात और रात को दिन कर दिया। उसको यात्रा के कष्टों के समय भी click here मशक की हिफाजत का ही ख्याल रहता था।

आखिर हजरत मुहम्मद की कृपा से वह दुआ उसको याद आ गयी।

Third, I attribute to my achievement using your principals detailed higher than, And that i thank you for sharing. I'm heading to check out EFT Taping. I have not heard about that just one.

उन्हों दरवाजे बन्द करके check here दीवारों को रगड़ना शुरु किया और आकाश की तरह बिल्कुल और साफ सादा घाटा कर डाला। उधर चीनी अपना काम पूरा करके खुशी के कारण उछलने लगे।

[इब्राहीम का आन्तरिक गुण गुप्त था और उसकी सूरत लोगों के सामने थी। लोग दाढ़ी और गुदड़ी के अलावा और क्या देखते हैं?]१

आदमी निवेदन किया, "अच्छा, सारे जानवरों की बोली न सही कुत्ते की, जो मेरे दरवाज़े पर रहता है और मुर्ग की, जो घर में पला हुआ है, बोलियां जान लूं तो यही काफी है।"

यह देखकर लोग भाग निकले। जुन्नून ने कहकहा लगाकर सिर हिलाया और एक साधु से कहा, "जरा इन भक्तों को तो देखो। ये दोस्ती का दम भरते हें। दोस्तों को तो अपने मित्र का more info कष्ट अपनी मुसीबतों के बराबर होता है, और उनको मित्र से जो कष्ट पहुंचे उसे वह सहर्ष सहन करते हैं।"

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15

Comments on “Subconscious Mind Power No Further a Mystery”

Leave a Reply

Gravatar